Posts

Featured Post

अखिलेश ने कार्यकर्ताओं/नेताओं से किया आह्वान, छोटे-छोटे कार्यक्रम बनाइये, जनता के बीच में जाइये, चर्चा चलाइये

Image
लखनऊ !  समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी को मैं कार्यकर्ताओं की पार्टी बना रहा हूँ. आप सभी के विचारों को समेकित कर रहा हूँ . समाजवादी पार्टी आपकी पार्टी है. आप सभी की मुझसे ढेर सारी अपेक्षाएं हैं, लेकिन लोकसभा चुनाव के बाद दोषारोपण करने वाले तो बहुत आये, लेकिन एक भी कार्यकर्त्ता / नेता ऐसा नहीं आया, जो किसी प्रोग्राम के साथ आया हो, और यह बोला हो कि मैं जनता के बीच में यह कार्यक्रम लेकर जा रहा हूँ, आपकी स्वीकृति चाहिए. समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि मैं आने वाले दिनों में वह सब कुछ करने जा रहा हूँ, जो पार्टी के लिए बेहतर होगा. आन्दोलन भी करूँगा, लेकिन पहले संगठन और अपने कार्यकर्ताओं में ऊर्जा का संचार तो कर लूं ! उन्होंने कार्यकर्ताओं और नेताओं से आह्वान किया कि आप सभी जनता के बीच में जाने के लिए छोटे – छोटे कार्यक्रम बनायें. नेताजी का सभी सम्मान करते हैं, तो उनके चर्चा-पर्चा-खर्चा में से पहला सूत्र चर्चा को अभी अपनाएं. पार्टी की, हमारे कामों की, अपनी, अपने कामों की जनता में चर्चा करें. यह जरूरी नहीं है कि कार्यक्रम …

ताजमहल के अतिरिक्त और क्या-क्या घूमने लायक है आगरा में?

Image
आगरा से भारत ही नहीं बल्कि दुनिया भर के लोग परिचित है उसकी वजह है दुनिया का सातवाँ अजूबा ताजमहल(TajMahal) लेकिन कोई भी शख्स हो अगर वो किसी शहर में घूमने के लिए जाता है तो वो शहर के सभी लोकप्रिय जगह एक साथ घूमना पसंद करता है। क्योंकि पता नहीं कब दोबारा उसे वहां जाने का मौका मिले| ऐसे में हर कोई ये जरुर जानना चाहता है कि जिस शहर में वो घूमने जा रहा है उसमे क्या कुछ ऐसा है जो उसके लिए यादगार बन सके।

दोस्तों आज हम जिस शहर की बात कर रहे है वो है आगरा जो भारत का सबसे लोकप्रिय पर्यटन शहर है उसका कारण ताजमहल(TajMahal) है। लेकिन हम आपको बता दे अगर आप आगरा घूमने जा रहे है तो सिर्फ ताजमहल ही नहीं है जिसे आप देख सके बल्कि आपको वहां बहुत से मुगल काल में बने और भी स्थल देखना का मौका मिल सकता है।
आगरा में घूमने के लिए पर्यटन स्थल की सूची और उसके बारे में हमने नीचे बताया है-
ताजमहल(TajMahal)-
भारत की शान ताजमहल(tajmahal) का निर्माण मुग़ल बादशाह शाहजहाँ ने अपनी रानी मुमताज महल की याद में बनवाया था। ताजमहल को देखने के लिए देश-विदेश से लाखो पर्यटन हर साल आते है। यमुना नदी के किनारे बना दुनिया का सातवाँ अ…

कानपुर शहर के ऐतिहासिक पर्यटन स्थल || Tourist place of Kanpur

Image
कानपुर वैसे तो एक औद्योगिक नगर है, लेकिन यहाँ इसके अतिरिक्त बहुत से पर्यटन और दर्शनीय स्थल भी है। यहाँ के पर्यटन की बात करें तो यहाँ -बिठूर साँई मंदिर, सिद्धेश्वर मंदिर, काँच का मंदिर, चिड़ियाघर, नानाराव पार्क, श्री हनुमान मंदिर पनकी, भारतीय तकनीकी संस्थान(I.I.T), राधा-कृष्णा मंदिर, चंद्रशेखर आजाद कृषि विश्वविद्यालय, गंगा बैराज, मंधना तकनीकी एवं शैक्षिक संस्थान इत्यादि धार्मिक व शैक्षिक स्थान है, जो पर्यटन के लिए भी एक आकर्षण का केंद्र है।


दोस्तों अगर आप कानपुर किसी कार्य के लिए जा रहे है और साथ ही आप कानपुर में घूमना चाहते है तो आप कानपुर पहुँचकर बिल्कुल भी निराश नहीं होंगे। ये शहर औद्योगिक नगरी होने के साथ-साथ ऐतिहासिक भी है।
गंगा नदी के किनारे बसा ऐतिहासिक शहर कानपुर में अधिकांश घूमने की जगह में मदिर है, लेकिन आधुनिक युग की द्रष्टि से भी कानपुर एक अच्छा शहर है जो आपके लिए एक पर्यटन का केंद्र है।
श्री राधा-कृष्ण मंदिर- श्री राधाकृष्ण मंदिर में पांच मंदिर है ये मंदिर जेके विश्वास द्वारा निर्मित है, इसे जेके मंदिर भी कहते है। इस मंदिर पर श्री कृष्ण जन्माष्टमी और दिवाली जैसे पवित्र हिन्…

इटावा शहर के पर्यटन स्थल || Tourist Place of Etawah

Image
कभी “इष्टिकापुरी” नाम से जाना जाने वाला शहर आज इटावा है। कभी डकैतों की वजह से खौफ खाने वाली इटावा की धरती आज कुछ अलग है, पिछले कुछ सालो से इटावा का विकास भी जमकर हुआ है। इटावा शहर की बात करें तो यहाँ पर भैंसों की लोकप्रिय नश्ल भदावरी पायी जाती है और इटावा घी का वितरक केंद्र भी है। इटावा ऐतिहासिक द्रष्टिकोण से भी बहुत खास है चाहे वो अंग्रेजो का समय हो या फिर भगवान श्री कृष्ण का। इटावा से अलग हुए कुदरकोट में भगवान श्री कृष्ण की पत्नी रुकमणी रहती थी, ये कुदरकोट अब इटावा और औरैया जिले की सीमा पर औरैया जिले में स्थित है। इटावा भगवान श्री कृष्ण के समय उनके भाई बलराम के अधीन आता था।


इटावा कभी डकैतों के लिए भी प्रसिद्ध था,चम्बल नदी के आस-पास के क्षेत्र को बागियों की धरती कहा जाता था। ये चम्बल नदी इटावा जिले के मुरादगंज में ही यमुना नदी से मिल जाती है| अगर इटावा में नदियों की बात करें तो यहाँ एक पंचनद भी है। जो चम्बल, पहुज,क्वारी, और सिंधु नदियाँ यमुना नदी से मिलकर पंचनद बनती है। इटावा जिले में चम्बल नदी पर राष्ट्रीय चंबल अभयारण्य है। राष्ट्रीय चंबल अभयारण्य उन अभ्यारण्यों में से एक है जो गंग…

जानिए प्रेम मंदिर, वृन्दावन, मथुरा से जुड़े रोचक तथ्य || Prem Mandir

Image
जानिए प्रेम मंदिर, वृन्दावन, मथुरा से जुड़े रोचक तथ्य-


[table id=39 /]
प्रेम मंदिर वृन्दावन, मथुरा में स्थित है।इस मंदिर में इटैलियन करारा संगमरमर का प्रयोग किया गया है।इस मंदिर का शिलान्यास कृपालुजी महाराज ने 14 जनवरी 2001 को लाखो श्रद्धालुओ के बीच किया था।इस मंदिर को बनाने में 11 वर्ष का समय लगा था जिसमें करीब ₹100 करोड़ रूपए खर्च हुए थे।इस मंदिर को राजस्थान और उत्तर प्रदेश के लगभग 1000 शिल्पकारों ने मिलकर बनाया है।इस मंदिर का उद्घाटन 17 फरवरी 2012 को किया गया था।यह मंदिर 54 एकड़ जगह में बना है जिसकी ऊंचाई 125 फुट, लम्बाई 122 फुट और चौड़ाई 115 फुट है।मंदिर में गोवर्धन पर्वत की एक शानदार झाँकी बनी हुयी है जिसमें भगवान श्री कृष्ण गोवर्धन पर्वत को अपनी उंगली पर उठायें है।मंदिर के निचले तल पर राधा-कृष्ण का मंदिर है और प्रथम तल पर सीता-राम का मंदिर बना है।मंदिर में कुल 94 स्तम्भ है जिन्हें राधा-कृष्ण की विभिन्न लीलाओं से सजाया गया है।मंदिर के मुख्य प्रवेश द्वारों में अष्ट मयूरों के नक्काशीदार तोरण बनाए गए है।इस मंदिर में सभी धर्मो के लोगो को प्रवेश करने की अनुमति है जो आपसी भाईचारे के लिए अच्…

नवाबो के शहर लखनऊ के पर्यटन स्थल || Tourist place of Lucknow

Image
अगर आप उत्तर प्रदेश की राजधानी या नबावो के शहर लखनऊ की सैर करना चाहते है तो हम आपको बताएँगे उन जगहों के बारे में जहाँ आपको जरुर जाना चाहिए। वैसे तो लखनऊ एक राजनीतिक शहर है क्योंकि ये भारत के सबसे राजनीतिक प्रदेश की राजधानी है, लेकिन अगर लखनऊ के पर्यटन की बात करें तो गोमती नदी पर बसा लखनऊ शहर एक ऐतिहासिक शहर भी है लखनऊ को नबावो के शहर के नाम से भी जाना जाता है। (Tourist place of Lucknow) || लखनऊ के पर्यटन स्थल ||

बड़ा इमामबाडा- लखनऊ के इस इमामबाडा का निर्माण आसफउद्दौला ने 1784 में कराया था। इस इमामबाडा का ऐतिहासिक और सांस्कृतिक महत्त्व भी है। यहाँ पर एक अनोखी भूल भुलैया भी है जो लखनऊ और इमामबाडा में पर्यटन का केंद्र है।
छोटा इमामबाडा- छोटा इमामबाडा का निर्माण नवाब मोहम्मद अली शाह द्वारा 1838 में बनवाया गया था। इमामबाडा परिसर के ठीक बाहर एक 4 मंजिला सतखंडा, एक अधूरा घडी टावर और वेधशाला है।
बनारसी बाग- नाम से तो ये एक बगीचा प्रतीत होता है लेकिन ये लखनऊ का एक चिड़ियाघर है जिसे स्थानीय लोग बनारसी बाग़ कहते है। इस चिड़ियाघर में एक ऐतिहासिक संग्रहालय है जिसमे बहुत सी ऐतिहासिक वस्तुएं सुरक्षित है। …

Victoria Memorial, Kolkata History in Hindi || विक्टोरिया मेमोरियल

Image
Victoria Memorial, Kolkata History in Hindi-


विक्टोरिया मेमोरियल भारत के कोलकाता में स्थित एक बेहतरीन स्मारक है। इस स्मारक में शिल्पकला का सुंदर मिश्रण है। यह स्मारक महारानी विक्टोरिया को समर्पित है। यह महारानी विक्टोरिया की याद में बनाया गया था। इसका निर्माण कार्य 1906-1921 के बीच तक चला।
विक्टोरिया मेमोरियल की स्थापना अंग्रेज गवर्नर जनरल लार्ड कर्जन की पहल पर की गयी थी।
यह 57 एकड़ भूमि पर निर्मित है इसे "राज का राज" नाम से भी जाना जाता है।
मेमोरियल में सबसे प्रसिद्ध एक शानदार संग्रहालय है, जहाँ पर महारानी विक्टोरिया के पियानो और स्टडी-डेस्क सहित 3000 से अधिक वस्तुएं प्रदर्शित की गई है।
मार्बल से बना यह स्मारक ब्रिटिश और मुग़ल वास्तुशैली का अद्भुत मिश्रण है। इस मेमोरियल संग्रह के पास नौ दीर्घाओं में प्रदर्शित 28,394 कलाकृतियाँ है, ये कलाकृतियाँ देश की संस्कृति को दर्शाती है।
विक्टोरिया स्मारक से जुड़े रोचक तथ्य-इसकी नींव 1906 ई. में वेल्स के राजकुमार द्वारा रखी गयी थी।इस प्रसिद्ध स्मारक के निर्माण में लगभग 15 वर्षो का समय लगा था।इस स्मारक का केन्द्रीय गुम्बद सबसे बड़ा है, इस गुम…